एक वाकिये ने बदल दी ग्वालियर के दिव्यांग जाहिर की जिंदगी, अब मुफ्त में कर रहे हैं यह सेवा, जानें डिटेल

0
23

विजय राठौड़/ग्वालियर. किसी की मदद करने के लिए जरूरी नहीं कि आप बहुत धनवान हों या आपके पास अटूट संपत्ति हो. छोटी-छोटी चीजों से भी आप लोगों की मदद कर सकते हैं. इस बात को चरितार्थ कर रहे हैं ग्वालियर के इटालियन गार्डन के सामने एक छोटी सी चाय व चिप्स की अस्थाई दुकान लगाने वाले जाहिर हुसैन. जाहिर अपनी दुकान पर आने वाले ग्राहकों में दिव्यांग और गर्भवती महिलाओं से पानी का कोई पैसा नहीं लेते हैं. जाहिर कहते हैं कि अगर मेरे बस में हो तो मैं पानी के नाम पर किसी से भी पैसा ना लू. लेकिन मैं एक बहुत छोटा दुकानदार हूं और मुझे अपना घर भी चलाना है इसलिए जितनी मदद हो सकती है मैं उसमें पीछे नहीं हटता हूं.

जाहिर हुसैन स्वयं है दिव्यांग
आपको बता दें लोगों की भलाई की सोच रखने वाले जाहिर खुद भी दोनों पैरों से दिव्यांग है. बातचीत के दौरान जाहिर ने बताया कि वे एक प्राइवेट नौकरी करते थे, जो कोरोना काल के दौरान चली गई. उसके बाद घर का संचालन करने में भी परेशानी हो रही थी. कोरोना काल समाप्त होने के बाद उन्होंने अपने जीवन की नई शुरुआत के रूप में इस दुकान को खोला जिसकी वे नगर निगम से प्रतिदिन पर्ची भी कटाते हैं. कहने को दुकान अस्थाई है, लेकिन उनके इरादे पूरी तरह समाजसेवा के है.

इस घटना से हुए प्रभावित
जाहिर ने बताया की दुकान खोले हुए उन्हें अभी लगभग 8 माह हो चुके हैं. कुछ माह पहले उनकी दुकान पर एक महिला आई, और पीने के लिए पानी की बोतल मांगी. लेकिन छुट्टे पैसे न होने के कारण वो पानी लेने में असमर्थ थी. और उन दिनों नई दुकान होने के चलते इनकी ग्राहकी भी अधिक नहीं थी. वहीं गर्मी का मौसम था. तो महिला को प्यास भी अधिक लगी थी. तो महिला की परेशानी को देखते हुए उन्होंने महिला को मुफ्त में पीने का पानी दे दिया. जिस पर महिला ने भावुक होते हुए कहा कि मैं कितनी ही दुकानों पर पानी के लिए परेशान होकर आ रही हूं छुट्टे पैसे न होने के चलते किसी ने उसे पानी नहीं पिलाया. लेकिन तुमने पानी पिलाया. महिला तो धन्यवाद करके चली गई. इसके बाद जाहिर ने सोचा कि इस तरह के अन्य लोग भी होंगे जिनके पास पानी के लिए भी पैसे न हों. तो इसी सोच के साथ जाहिर ने ये कदम उठाया. और अपनी दुकान पर बोर्ड लगाया की यहां गर्भवती महिलाओं और दिव्यांगो को मुफ्त पानी दिया जाता है.

ऊपर वाले का करम रहा तो चाय भी करेंगे फ्री
जाहिर ने बताया की सर्दियों का मौसम आ रहा है. ऐसे में अगर ऊपर वाले का करम रहा तो यही व्यवस्था में सर्दियों में चाय की भी करने का प्रयास करूंगा. उनका कहना है कि जितनी भी लोगों की मदद मेरे बस में होगी मैं करने का प्रयास करूंगा.

ब्रेकिंग न्यूज़ हिंदी में सबसे पहले पढ़ें News18 हिंदी| आज की ताजा खबर, लाइव न्यूज अपडेट, पढ़ें सबसे विश्वसनीय हिंदी न्यूज़ वेबसाइट News18 हिंदी|

FIRST PUBLISHED : November 18, 2022, 13:39 IST