ऐपल और सैमसंग के बाद चीनी स्मार्टफोन ब्रांड भी हटा सकते हैं इन-बॉक्स चार्जर, इलेक्ट्रॉनिक वेस्ट होगा कम

0
18

हाइलाइट्स

ओप्पो और वनप्लसभारत में अपने स्मार्टफोन बॉक्स से चार्जर हटा सकते हैं.
चार्जर हटाने के फैसले का उद्देश्य इलेक्ट्रॉनिक वेस्ट प्रभाव को कम करना है.
ऐपल और सैमसंग पहले से ही अपने कुछ डिवाइस से चार्जर हटा चुकी हैं.

नई दिल्ली. ऐपल ने हाल ही iPhone 12 सीरीज के रिटेल बॉक्स में चार्जर देना बंद कर दिया था. इसके बाद सैमसंग ने भी 2021 में गैलेक्सी एस सीरीज के इन-बॉक्स से चार्जर को हटा दिया. भारतीय टिपस्टर मुकुल शर्मा के अनुसार अब चीनी स्मार्टफोन कंपनियां ओप्पो और वनप्लस भी फोन के साथ चार्जर नहीं देंगी. अपने सोर्स का हवाला देते हुए टिपस्टर ने कहा है कि ओप्पो और वनप्लस जल्द ही भारत में अपने स्मार्टफोन बॉक्स से चार्जर हटा सकते हैं. हालांकि उन्होंने अनुमानित वर्ष या समय शेयर नहीं किया.

वर्तमान में iPhone SE 3 सहित किसी भी iPhone में पावर एडॉप्टर नहीं मिलता है. वहीं, अगर बात करें सैमसंग की, तो कंपनी ने अपने फ्लैगशिप और मिड-रेंज स्मार्टफोन सीरीज से इन-बॉक्स चार्जर को हटा दिया है. हालांकि, कंपनी अपने बजट कैटेगरी के फोन के साथ चार्जर अभी भी दे रही है. रियलमी फिलहाल नार्जों 50ए प्राइम के साथ चार्जर एडॉप्टर दे रही है.

इलेक्ट्रॉनिक वेस्ट होगा कम


स्मार्टफोन कंपनियों का दावा है कि चार्जर हटाने के फैसले का उद्देश्य इलेक्ट्रॉनिक वेस्ट और पर्यावरण पर होने वाले प्रभाव को कम करना है. इसके अलावा इससे उनके कुल राजस्व में भी इजाफा होता है. इस साल की शुरुआत में आई एक रिपोर्ट में खुलासा हुआ था कि ऐपल ने आईफोन के साथ ईयरबड्स और चार्जर न भेजकर 6.5 अरब डॉलर की बचत की.

यह भी पढ़ें-  भारत में बिकने वाले सभी स्मार्ट डिवाइसों के लिए अनिवार्य होगा यूएसबी-सी चार्जर, ई-कचरे में आएगी कमी

सरकार और कंपनियों में बनी सहमति


बता दें कि यूरोपियन यूनियन के बाद भारत भी सभी स्मार्ट डिवाइस के लिए एक सामान्य चार्जर रखने का इरादा रखता है. इस संबंध में केंद्र सरकार ने बुधवार को में फोन कंपनियों के साथ चर्चा की थी. बैठक में सरकार और कंपनियों के बीच सभी स्मार्ट डिवाइसेज पर USB-C को अनिवार्य करने पर सहमति बन चुकी है.

यूएसबी टाइप सी चार्जिंग पोर्ट होगा अनिवार्य


कन्ज्यूमर मामलों के सचिव रोहित कुमार सिंह ने कहा कि केंद्र सरकार द्वारा स्थापित एक अंतर-मंत्रालयी टास्क फोर्स की बैठक में हितधारकों के बीच बनी आम सहमति के बाद भारत में सभी स्मार्ट डिवाइसों के लिए एक यूएसबी टाइप सी चार्जिंग पोर्ट अनिवार्य हो जाएगा. उन्होंने आगे कहा कि यह विचार-विमर्श किया गया कि फीचर फोन के लिए एक अलग चार्जिंग पोर्ट अपनाया जा सकता है.

Tags: Tech news, Tech News in hindi, Technology