करी पत्ते की चाय पीकर दूर करें मॉर्निंग सिकनेस, स्ट्रेस समेत ये 6 शारीरिक समस्याएं, जानें बनाने का तरीका

0
11

हाइलाइट्स

मोशन सिकनेस है तो आप ट्रैवल करने से पहले और यात्रा के दौरान करी पत्ते की चाय पिएं.
प्रेग्नेंसी में जी मिचलाने, उल्टी, मॉर्निंग सिकनेस की समस्या कम करती है करी पत्ते की चाय.

Curry Leaf Tea Benefits: करी पत्ते का इस्तेमाल अधिकतर लोग खूब करते हैं. ऐसा इसलिए क्योंकि यह खाने का स्वाद बढ़ाने का काम करते हैं. मुख्य रूप से सांभर, दाल, सब्जी आदि में करी पत्ते का इस्तेमाल अधिक किया जाता है. इतना ही नहीं, करी पत्ते का जूस भी लोग पीते हैं. लेकिन, एक और चीज़ आप इस पत्ते से बनाकर पी सकते हैं और वो है करी पत्ते से बनी हेल्दी चाय. जी हां, करी पत्ते से तैयार चाय सेहत के लिए काफी फायदेमंद होती है. करी पत्ते में कई तरह के पोषक तत्व भी मौजूद होते हैं, जो कई तरह की शारीरिक समस्याओं से बचाते हैं. आइए जानते हैं करी पत्ते की चाय पीने के क्या फायदे हैं और इसे बनाने का तरीका क्या है.

करी पत्ते में मौजूद पोषक तत्व

करी पत्ते में कई तरह के पोषक तत्व मौजूद होते हैं जैसे आयरन, फॉस्फोरस, कैल्शियम, विटामिन ए (कैरोटीन), विटामिन सी आदि. विटामिन सी रोग प्रतिरोधक क्षमता को मजबूत करता है. ऐसे में करी पत्ते वाली चाय पीना आपके लिए बेहद लाभदायक हो सकता है.

इसे भी पढ़ें: Curry leaves Benefits: सुबह खाली पेट चबाएं करी पत्ता, सेहत को मिलेंगे ढ़ेर सारे फायदे

करी पत्ते की चाय के फायदे

1.करी पत्ते का इस्तेमाल दक्षिण भारत में सबसे ज्यादा किया जाता है. हालांकि, अब इसका इस्तेमाल अधिकतर लोग करने लगे हैं. करी पत्ता सिर्फ तड़का लगाने के काम ही नहीं आता, बल्कि इस हेल्दी हर्ब से बनी एक कप चाय आपको कई सेहत लाभ भी देती है.

2. हिंदुस्तानटाइम्स डॉट कॉम में छपी एक खबर के अनुसार, करी पत्ते वाली चाय पीने से पाचन तंत्र दुरुस्त रहता है. इसमें माइल्ड लैक्सेटिव प्रॉपर्टीज और डाइजेस्टिव एन्जाइम्स होते हैं, जो बाउल मूवमेंट को सुधारते हैं. इससे पाचन में भी सुधार होता है. करी पत्ते की चाय पीने से कब्ज, गैस, डायरिया आदि समस्याएं भी ठीक हो सकती हैं.

3. यदि आपको डायबिटीज है और चाहते हैं ब्लड शुगर लेवल को कंट्रोल बनाए रखना तो आप करी पत्ते की चाय का सेवन कर सकते हैं. करी पत्ते की चाय ब्लड शुगर लेवल को हाई नहीं करती है, बल्कि इसे कंट्रोल करने में कारगर है.

4. करी पत्ते में फेनोलिक्स और एंटीऑक्सीडेंट प्रॉपर्टीज का स्तर काफी अधिक होता हैं, जो फ्री रैडिकल्स से होने वाले त्वचा के नुकसान से बचाते हैं. एंटीऑक्सीडेंट में मौजूद तत्व इंफेक्शन, इंफ्लेमेशन आदि से भी शरीर को सुरक्षित रखने में कारगर हैं. यदि आप रोगों से बचे रहना चाहते हैं तो एक कप करी पत्ते की चाय का सेवन नियमित रूप से अवश्य करें.

इसे भी पढ़ें: हेयर फॉल रोकना हो या बालों को शाइनी बनाना, करी पत्ते को अलग-अलग तरह से घर पर ऐसे करें यूज़

5. प्रेग्नेंसी में भी आप इस चाय का सेवन कर सकती हैं. इसे पीने से आपको उल्टी, जी मिचलाना, मॉर्निंग सिकनेस जैसी समस्याएं नहीं परेशान करेंगी. यदि आपको मोशन सिकनेस है तो आप ट्रैवल करने से पहले और यात्रा के दौरान ये चाय पीते रहें, उल्टी, जी मिचलाने जैसा महसूस नहीं होगा.

6. करी पत्ते की अरोमा या खुशबू नसों को आराम पहुंचाने में मदद कर सकती है. तनाव से राहत देकर मन-मस्तिष्क को शांत करती है. यदि आप दिनभर काम करने के बाद थकान महसूस करें तो थकान, तनाव को दूर करने के लिए एक कप करी पत्ते की चाय पीकर ज़रूर देखें.

करी पत्ते की चाय बनाने का तरीका

आप करी पत्ते की चाय बनाने के लिए लगभग 20-25 ताजे करी पत्ते लें. इन्हें पानी से साफ कर दें. चाय के बर्तन में एक कप पानी डालें और गैस पर रख दें. जब पानी उबलने लगे तो गैस बंद कर दें. अब इसमें आप करी पत्ते डाल दें. इसे थोड़ी देर ऐसे ही ढंक कर छोड़ दें. कुछ मिनट में ही पानी का रंग बदला हुआ नजर आने लगेगा. चाय को एक कप में छान लें और गर्म पीने का मजा लें.

Tags: Diabetes, Health, Lifestyle