जरा संभल के! इस अस्पताल में किए यह काम तो देने पड़ेंगे 500 रुपए, जानें पूरा मामला

0
13

हाइलाइट्स

अस्पताल परिसर में गंदगी फैलाने पर 500 रुपए की पैनल्टी लगाई जाएगी.
सफाईकर्मियों को गंदगी फैलानेवालों पर सख्ती करने के निर्देश दिए गए हैं.
अस्पताल परिसर में तैनात सुरक्षा गार्ड गंदगी फैलानेवालों पर पैनल्टी लगाएंगे.

रिपोर्ट- सौरभा गृहस्थी
जयपुर. प्रदेश के सबसे बड़े एसएमएस अस्पताल प्रशासन ने गंदगी फैलानेवालों के खिलाफ सख्त रुख अपना लिया है. अस्पताल में एक ओर जहां सफाईकर्मियों को स्वच्छता पर फोकस करने के निर्देश दिए गए हैं तो वहीं, दूसरी ओर गंदगी फैलाने वालों पर सख्ती करने के निर्देश दिए गए हैं. अब अस्पताल परिसर में गंदगी फैलाने पर 500 रुपए की पैनल्टी लगाई जाएगी.

दरअसल, मरीजों के साथ आने वाले परिजन कई बार सफाई व्यवस्था को लेकर लापरवाही का रुख अपनाते नजर आते हैं. जहां-तहां पीक फेंकना, कचरा फैलाना आम बात हो गई है. इसके साथ ही सफाईकर्मी भी सफाई व्यवस्था को लेकर लापरवाही करते नजर आते हैं. ऐसी स्थितियों को देखते हुए एसएमएस अस्पताल के अधीक्षक डॉ. अचल शर्मा ने सफाईकर्मियों को भी विशेष फोकस करने के निर्देश दिए हैं. इसके अलावा अस्पताल परिसर में अलग-अलग जगहों पर जागरूकता के संदेश लिखे पोस्टर भी लगाए जाएंगे. इसके बावजूद अगर कोई गंदगी फैलाता है तो अस्पताल के सुरक्षा गार्ड गंदगी फैलानेवालों पर पैनल्टी लगाएंगे.

बता दें कि एसएमएस अस्पताल में आसपास के राज्यों के हजारों मरीज इलाज के लिए पहुंचते हैं. हजारों लोगों की फुट फॉल (आवाजाही) के चलते अस्पताल में इंफेक्शन का खतरा हमेशा मंडराता रहता है. ऐसे में अगर सफाई व्यवस्था पर विशेष ध्यान न दिया जाए तो इंफेक्शन के चलते मरीजों की जान संकट में आ सकती है. अस्पताल परिसर में मरीजों के परिजनों और आम लोगों द्वारा गंदगी को लेकर ‘चलता है’ वाले एटीट्युड को बदलने के लिए अस्पताल प्रशासन ने सख्त रुख अपना लिया है. गंदगी फैलानेवालों पर अस्पताल प्रशासन ने 500 रुपए की पैनल्टी का प्रावधान रखा है.

इंफेक्शन से बचना है तो स्वच्छता जरुरी है और अगर अस्पताल में ही गंदगी का आलम हो तो मरीज को बेहतर इलाज नहीं मिल पाता है, अस्पताल प्रशासन ने सख्ती करने का मन बना लिया है. अब देखना होगा की ये कितना कारगर साबित होता है.

ब्रेकिंग न्यूज़ हिंदी में सबसे पहले पढ़ें News18 हिंदी| आज की ताजा खबर, लाइव न्यूज अपडेट, पढ़ें सबसे विश्वसनीय हिंदी न्यूज़ वेबसाइट News18 हिंदी|

FIRST PUBLISHED : November 17, 2022, 15:06 IST