जोधपुर सिविल एयरपोर्ट का 350 करोड़ रुपये से होगा विस्तार, बढ़ेगी एयर कनेक्टिविटी

0
15

मुकुल परिहार

जोधपुर. जैसे-जैसे जोधपुर शहर में जनसंख्या बढ़ रही है वैसे-वैसे परिवहन के साधनों में यात्री भार बढ़ता जा रहा है. सरकार अपने स्तर पर परिवहन के साधनों में विस्तार को लेकर संवेदनशील है. इस दृष्टि से जोधपुर के सिविल एयरपोर्ट पर पिछले कुछ वर्षों से यात्री भार के बढ़ते दबाव को देखते हुए एयरपोर्ट विस्तार के कार्य का शुभारंभ किया गया था.

जल्द ही जोधपुर सिविल एयरपोर्ट के विस्तार का कार्य समाप्त होगा जिसका सीधा लाभ यात्रियों को मिलेगा. जोधपुर की कनेक्टिविटी देश के अन्य राज्यों से बढ़े, इसका शहरवासियों को लंबे समय से इंतजार है. जोधपुर एयरपोर्ट डायरेक्टर के रूप में पदभार संभालने वाली गायत्री वेंकटेश्वरन का उद्देश्य है कि कैसे जोधपुर एयरपोर्ट पर न केवल सुविधाओं का विस्तार हो, बल्कि एयरपोर्ट विस्तार का जो कार्य चल रहा है वो भी जल्द पूरा हो.

आपके शहर से (जोधपुर)

गायत्री वेंकटेश्वरन बनी हैं जोधपुर एयरपोर्ट की डायरेक्टर

विस्तार कार्य पर केन्द्रीय जलशक्ति मंत्री व जोधपुर के सांसद गजेन्द्र सिंह भी लगातार निगरानी रखे हुए हैं. दिल्ली के इंदिरा गांधी इंटरनेशनल एयरपोर्ट में अपनी सेवाएं दे चुकी गायत्री वेंकटेश्वरन ने जब से जोधपुर एयरपोर्ट डायरेक्टर के रूप में पदभार संभाला है तब से उनका उद्देश्य रहा है कि कैसे जल्द से जल्द एयरपोर्ट विस्तार का कार्य आगे बढ़े. यह पहली है जब एक महिला अधिकारी ने जोधपुर एयरपोर्ट डायरेक्टर के रूप में पदभार संभाला है.

जोधपुर सिविल एयरपोर्ट सलाहकार समिति के सदस्य राजीव मूंदड़ा का कहना है कि नई डायरेक्टर गायत्री वेंकटेश्वर इससे पूर्व दिल्ली के इंदिरा गांधी इंटरनेशनल एयरपोर्ट पर सेवाएं दे चुकी हैं. लिहाजा उनका सपना है कि जोधपुर का एयरपोर्ट भी इंटरनेशनल एयरपोर्ट बने. वहीं केन्द्रीय मंत्री गजेन्द्र सिंह शेखावत के द्वारा इसको लेकर 350 करोड़ रुपये का बजट सेंक्शन किया किया था. उम्मीद है कि आने वाले दो वर्षों में जोधपुर एयरपोर्ट की कनेक्टिविटी बढ़ेगी और यह इंटरनेशनल एयरपोर्ट के रूप में उभरकर आएगा.

एयर कनेक्टिविटी से बढ़ेगा उद्योग और व्यापार

जोधपुर में हैंडीक्राफ्ट ग्वारगम का मार्केट बहुत तेजी से चल रहा है. अगर यहां फ्लाइट्स की कनेक्टिविटी बेहतर हुई तो शहर का व्यापार काफी बढ़ेगा. सलाहकार समिति सदस्य ने भारत सरकार से आग्रह किया कि इसका जल्द से जल्द विस्तार का कार्य पूरा करे ताकि यहां उड़ानों की संख्या बढ़ सके. एयरपोर्ट डायरेक्टर गायत्री वेंकटेश्वर का भी यह प्रयास है कि वो केन्द्रीय मंत्री गजेन्द्र सिंह शेखावत और भारत सरकार के सानिध्य से यह कार्य जल्द से जल्द पूरा हो सके.

नए प्रोजेक्ट में यह होंगे निर्माण कार्य

जोधपुर एयरपोर्ट विस्तार के इस प्रोजेक्ट में टर्मिनल बिल्डिंग, एनकीलरी बिल्डिंग जैसे सब-स्टेशन, एसी प्लांट रूम, पंप रूम, कार पार्किंग, मल्टीलेवल कार पार्किंग, विमान पार्किंग बेस, एप्रोन कंट्रोल टॉवर, सीएसई एरिया का निर्माण होना है. एयरपोर्ट विस्तार में 12 विमान खड़े होने की जगह होगी. इसके लिए अलग से एयरक्राफ्ट पार्किंग एरिया बनाया जाएगा. वर्तमान टर्मिनल बिल्डिंग का विस्तार होगा और नए टर्मिनल भवन का निर्माण किया जाएगा.

विस्तार के बाद जोधपुर एयरपोर्ट पर फायर स्टेशन, रिटायरिंग रूम, गेस्ट हाउस, फ्यूल फैसिलिटी, फ्यूल हाइड्रेंट सुविधा रहेगी. 49 एकड़ जमीन पर विस्तार कार्य होगा जिसमें एयरपोर्ट अथॉरिटी ऑफ इंडिया की 12 एकड़ और वायुसेना स्टेशन की 37 एकड़ जमीन है.

नए टर्मिनल से बढ़ेगी यात्रीभार समता

जोधपुर एयरपोर्ट के मौजूदा टर्मिनल भवन की क्षमता चार लाख यात्री प्रतिवर्ष है जिसे संशोधित कर 6.90 लाख यात्री प्रतिवर्ष कर दिया गया है. हालांकि, इस साल 10 मार्च तक जोधपुर एयरपोर्ट पर पैसेंजर मूवमेंट सात लाख को पार कर गया था. अधिकारियों के अनुसार नई बिल्डिंग बनने के बाद वर्ष 2036-37 में यह आंकड़ा 19 लाख हो जाएगा जिससे यात्री भार की समस्या से निजात मिलेगा.

Tags: Airport, Jodhpur News, Rajasthan news in hindi