पूछताछ के लिये आज ED दफ्तर जाएंगे हेमंत सोरेन, नेतृत्व परिवर्तन के लिये महागठबंधन ने किया अधिकृत

0
11

हाइलाइट्स

मुख्यमंत्री के आगमन को लेकर ED के दफ्तर वाले इलाके में विशेष सुरक्षा व्यवस्था की गई है
मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन जब ईडी के समक्ष होंगे तो कई ऐसे सवाल हैं जिनके जवाब मुख्यमंत्री से पूछे जा सकते हैं.
5 मई से झारखंड में शुरू हुई ईडी की दबिश मुख्यमंत्री सोरेन के करीबियों के लिए आसान नहीं रही है

रांची. मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन आज यानी गुरुवार को ED दफ्तर में पूछताछ के लिये हाजिर होंगे. मुख्यमंत्री आवास पर संपन्न हुई UPA की बैठक के बाद इसका खुलासा सरकार के मंत्रियों ने किया. गुरुवार की सुबह 11 बजे के करीब मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन ED दफ्तर के लिये रवाना हो सकते हैं. ED दफ्तर में जितनी देर तक हेमंत सोरेन से पूछताछ होगी उतनी देर तक महागठबंधन के विधायक और मंत्री मुख्यमंत्री आवास पर ही डटे रहेंगे. इतना ही नहीं UPA की बैठक में सर्वसम्मति से हेमंत सोरेन को कोई भी निर्णय लेने के लिये अधिकृत किया गया है.

यहां तक की नेतृत्व परिवर्तन जैसी स्थिति में भी हेमंत सोरेन के द्वारा लिया गया निर्णय ही सर्वमान्य होगा . सूत्रों के मुताबिक महागठबंधन ने प्लान A, B और C तैयार किया है जिसमें ED दफ्तर जाने से लेकर भविष्य की राजनीति को लेकर रणनीति बनाई गई है. अब ये स्पष्ट हो गया कि आज यानी की 17 नवंबर को मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन ED दफ्तर जाएंगे. हेमंत सोरेन के साथ कार्यकर्ताओं का हुजूम के भी जाने की पूरी उम्मीद है. झारखंड के स्वास्थ्य मंत्री बन्ना गुप्ता ने कहा कि CM जरूर ED दफ्तर जाएंगे. मुख्यमंत्री ED जांच में पूरा सहयोग करेंगे.

मुख्यमंत्री के साथ कार्यकर्ताओं के जाने के सवाल पर बन्ना गुप्ता ने कहा कि जन सैलाब को आने से कौन रोक सकता है. मंत्री मिथिलेश ठाकुर ने कहा कि सरकार के खिलाफ रचे जा रहे कुचक्र पर चर्चा हुई है. UPA पूरी तरह से एकजुट है. जनादेश का अपमान नहीं होने दिया जाएगा. कार्यकर्ता को कोई रोक पाया है क्या, कार्यकर्ता तो आएंगे ही. संसदीय कार्यमंत्री आलमगीर आलम ने भी कहा कि मुख्यमंत्री की बात से ऐसा प्रतीत हुआ कि वो ED दफ्तर जा रहे हैं. मुख्यमंत्री के साथ पूरा गठबंधन खड़ा है.

कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष राजेश ठाकुर ने कहा कि ED के हर सवाल का जवाब देने के लिये वो तैयार हैं. राजेश ठाकुर ने कहा कि अगले आदेश तक सभी विधायक रांची में ही रहेंगे . जनादेश को बचाने के लिये जो भी करना पड़े वो करेंगे .

ब्रेकिंग न्यूज़ हिंदी में सबसे पहले पढ़ें News18 हिंदी| आज की ताजा खबर, लाइव न्यूज अपडेट, पढ़ें सबसे विश्वसनीय हिंदी न्यूज़ वेबसाइट News18 हिंदी|

FIRST PUBLISHED : November 17, 2022, 09:55 IST