बिहार में अतिपिछड़ों पर सियासत, निगम चुनाव से पहले BJP ने सामाजिक न्याय समिति बनाई 

0
11

पटना. नगर निकाय चुनाव को लेकर न्यायालय के फैसले के बाद बिहार में सियासत लगातार जारी है. बीजेपी ने इस मसले को लेकर सामाजिक न्याय समिति का गठन किया है जिसका अध्यक्ष पूर्व मंत्री भीम सिंह को बनाया गया है. सदस्यों के रूप में अजय निषाद, शंभू शरण पटेल, रामकुमार राय को रखा गया है. बिहार बीजेपी के अध्यक्ष संजय जायसवाल ने कहा कि नगर निगम चुनाव की घोषणा के बाद हाईकोर्ट ने आदेश दिया कि ट्रिपल टेस्ट कराया जाए. बीते कुछ वर्षों में अतिपिछड़ों के साथ बिहार में अन्याय हुआ है.

बिहार में यह अन्याय लालू यादव और नीतीश कुमार ने किया है. इसके लिए भाजपा ने एक न्याय समिति बनाई है. बीजेपी की सामाजिक न्याय समिति ने हाल के दिनों में जुटाए गए आंकड़ों और अनुभव के आधार पर एक रिपोर्ट भी बनाया है जिसे अतिपिछड़ा आयोग को सौंपा. ललित नारायण मिथिला यूनिवर्सिटी , यूनिवर्सिटी के प्रोफ़ेसर का सिर तन से जुदा करने की धमकी देने पर संजय जायसवाल ने कहा कि बिहार में पीएफआई की की गठजोड़ से यह सरकार बनी है. इसी कारण से बिहार में यह सब चीजें हो रही हैं.

संजय जयसवाल ने बड़ा आरोप लगाते हुए कहा कि पीएफआई के सदस्य जेडीयू में सरकारी अधिकारी के तौर पर और राजद में वोटर के तौर पर मौजूद है. कुढ़नी उपचुनाव कों लेकर संजय जयसवाल ने कहा कि बिहार के सरकारी तंत्र का उपयोग सरकार कर रही है. आदित्य ठाकरे और तेजस्वी यादव की मुलाकात पर बीजेपी अध्यक्ष ने कहा कि तेजस्वी यादव उन्हें बुजुर्ग मुख्यमंत्री के पास मिलवाने ले जाते हैं. वह तो डमी मुख्यमंत्री हैं. साथ ही संजय जयसवाल ने सरकारी नौकरी दिए जाने के मामले में तेजस्वी यादव के बयानों पर भी तंज कसते हुए कहा कि उन्हें थोड़ा पढ़ लिख भी लेना चाहिए क्योंकि पढ़ने लिखने से बाते समझ में आती हैं .

आपके शहर से (पटना)

Tags: Bihar News, Bihar politics, BJP