बिहार में जल्द होगी शिक्षकों की बहाली, नहीं पढ़ाने वाले टीचर की जाएगी नौकरी, जानें सीएम नीतीश का क्या है प्लान

0
21

हाइलाइट्स

सीएम नीतीश कुमार ने एक बार फिर शिक्षकों को स्कूल में बच्चों की पढ़ाई पर ध्यान देने का निर्देश दिया है.
नीतीश कुमार ने शिक्षा विभाग को वैसे शिक्षकों को बाहर करने का भी निर्देश दिया जो बच्चों को नहीं पढ़ा रहे हैं.

पटना. बिहार में शिक्षा व्यवस्था में सुधार लाने को लेकर मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने एक बार फिर शिक्षकों को स्कूल में बच्चों की पढ़ाई पर ध्यान देने का निर्देश दिया है. नीतीश कुमार ने शिक्षा विभाग को वैसे शिक्षकों को निकाल बाहर करने का भी निर्देश दिया जो स्कूल में बच्चों को नहीं पढ़ा रहे हैं. साथ ही शिक्षकों को मोबाइल फोन पर अपनी व्यवस्था कम कर क्लास रूम में बच्चों को बेहतर पढ़ाई देने की नसीहत भी दी है. भारत के प्रथम शिक्षा मंत्री मौलाना अबुल कलाम आजाद के जन्मदिवस पर पटना के श्रीकृष्ण मेमोरियल हॉल में शिक्षा दिवस कार्यक्रम का आयोजन किया गया.

इस कार्यक्रम में मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने कहा कि शिक्षा दिवस के अवसर कार्यक्रम किया जा रहा है. 2007 में सबसे पहले इसकी शुरुआत की गई. केंद्र सरकार से अनुरोध किया कि बिहार में मौलाना अबुल कलाम आजाद के याद में शिक्षा दिवस मनाया जा रहा है इसे पूरे देश में मनाया जाना चाहिए, जिसके बाद पूरे देश में 11 नवंबर को शिक्षा दिवस मनाया जाने लगा.

बिहार में जल्द होगी शिक्षकों की बहाली 

शिक्षकों की बहाली को लेकर मुख्यमंत्री ने कहा कि शिक्षक बहाली जल्दी होगी इसके लिए शिक्षा विभाग को निर्देश दिया गया है कि बिहार में जल्द से जल्द शिक्षकों की बहाली की जाय. नीतीश कुमार ने शिक्षकों और प्रोफेसर से आग्रह करते हुए कहा कि हम आपका वेतन भी बढ़ाए हैं, लेकिन आप बच्चो को पढ़ाई में नई तकनीक का इस्तेमाल कीजिए. खाली मोबाइल पर देखने से नहीं होगा. आमने सामने बैठ कर पढ़ना होगा. जब हम केंद्र में मंत्री थे तब तक मोबाइल रखते थे. जब हम देखे सब मोबाइल में फसा रहता है. उसके बाद हम मोबाइल रखना छोड़ दिए. काम नहीं करने और स्कूलों में बच्चों को नहीं पढ़ाने वाले शिक्षकों पर सख्त होते हुए मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने कहा कि हमने शिक्षा मंत्री से कह दिया है जो शिक्षक स्कूल नहीं जाते हैं. उनको निकलवा दीजिए, जो जाते हैं. उनका वेतन बढ़ाइए.

सीएम ने केंद्र सरकार पर भी साधा निशाना 

कार्यक्रम में मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने केंद्र सरकार पर निशाना साधते हुए नई टेक्नॉलजी का इस्तेमाल करने का निर्देश देते हुए कहा कि बिहार में किस तरह मेरे प्रयासों से आईआईटी खुला एनआईटी का जीर्णोद्धार हुआ बड़े-बड़े संस्था बने इन सब की जानकारी नई तकनीक में दीजिए ताकि लोगों को पता चल सके कि इन सब संस्थानों का निर्माण कैसे हुआ है .क्यों की दिल्ली में जो लोग हैं, नई तकनीक पर अपनी ही बात डालना चाहते हैं, जिन्हे आजादी की लड़ाई से कोई मतलब नहीं था.  बापू की हत्या किसने की यह सब मत भूलिएगा. इस लिए नई टेक्नोलॉजी में सभी बातो को डालिए जिससे लोगों को सच्चाई का पता चल सके.

Tags: Bihar Teacher, CM Nitish Kumar, Teacher job