भारत जोड़ो यात्रा : खंडवा-बुरहानपुर की जिम्मेदारी शेरा को, बीजेपी ने पूछा- हे नाथ, यदुवंशियों से दूरी क्यों!

0
27

भोपाल. मध्यप्रदेश में राहुल गांधी की भारत जोड़ो यात्रा में निर्दलीय विधायक बने सुरेन्द्र सिंह शेरा की एंट्री हो गयी है. ये वही शेरा हैं जो पिछले विधानसभा चुनाव 2018 में टिकट न मिलने पर कांग्रेस से बागी होकर निर्दलीय मैदान में उतर गए थे और विधायक चुने गए थे. राहुल गांधी की भारत जोड़ो यात्रा में शेरा की सक्रियता ने कई लोगों की भौंहें टेढ़ी कर दी हैं. बीजेपी ने इसे कांग्रेस के कद्दावर नेता अरुण यादव की बेइज्जती बताया है जबकि नरोत्तम मिश्रा ने अपने शायराना अंदाज में कांग्रेस पर तंज कसा है

बुरहानपुर से निर्दलीय विधायक सुरेन्द्र सिंह शेरा को कांग्रेस पार्टी ने खंडवा और बुरहानपुर में राहुल गांधी की यात्रा का प्रभारी बनाया है. शेरा खंडवा और बुरहानपुर में राहुल गांधी की यात्रा के दौरान सभी व्यवस्थाओं के प्रभारी रहेंगे. पीसीसी चीफ कमलनाथ के निर्देश के बाद शेरा को यात्रा की सभी जिम्मेदारी दी गई हैं. कांग्रेस के सबसे वरिष्ठ और कद्दावर नेता अरुण यादव भी इसी क्षेत्र से हैं. लेकिन उन्हें इस जिम्मेदारी से दूर रखा गया है.

अरुण यादव और कमलनाथ के बीच मतभेद की खबरें बीच बीच में आती रही हैं. इसलिए बीजेपी को तो मानो बोलने का मौका मिल गया है. गृह मंत्री नरोत्तम मिश्रा ने तंज कसा कि खंडवा बुरहानपुर की यात्रा की जिम्मेदारी निर्दलीय विधायक शेरा को दी गई उन्होंने कहा हे नाथ, यदुवंशियों से इतनी दूरी क्यों.

कांग्रेस का पलटवार…
गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा के तंज पर कांग्रेस ने पलटवार किया है. प्रदेश कांग्रेस प्रवक्ता अजय सिंह यादव ने कहा बीजेपी के नेता अपनी पार्टी और अपने वरिष्ठ नेताओं की चिंता करें. उनके नेता असंतुष्ट होकर अज्ञातवास में चले गए. कांग्रेस पार्टी में सभी नेताओं कार्यकर्ताओं को पर्याप्त सम्मान और काम करने की जगह मिलती है. अरुण यादव के पास भारत जोड़ो यात्रा की महत्वपूर्ण जिम्मेदारियां हैं. अरुण यादव शनिवार को पीसीसी चीफ कमलनाथ के साथ निमाड़ दौरे पर जा रहे हैं. वो यात्रा की तैयारी का जायजा लेंगे.वो समय-समय पर पार्टी के महत्वपूर्ण काम करते हैं. बीजेपी के भ्रम जाल में जनता नहीं आने वाली है. बीजेपी झूठ बोलती है.

बीजेपी ने बताया अरुण यादव की बेज्जती…
खंडवा बुरहानपुर में भारत जोड़ो यात्रा की जिम्मेदारी अरुण यादव को नहीं दिए जाने पर मंत्री विश्वास सारंग पर कहा गुटों में बंटी हुई कांग्रेस तार-तार हो गई है. कमलनाथ ने सबकी सुपारी ले ली है. राहुल गांधी सबसे पहले सिख दंगों को लेकर माफी मांगें और कमलनाथ को कांग्रेस पार्टी से निकालें. कमलनाथ  ने कई नेताओं की जमीन समाप्त कर दी. अरुण यादव को पहले लोकसभा का चुनाव टिकट नहीं दिया. उनकी बेइज्जती करते हुए यात्रा से बाहर कर दिया. कांग्रेस में सब कुछ खराब चल रहा है.

Tags: Bharat Jodo Yatra, Madhya pradesh latest news