राहुल गांधी के पहुंचने से पहले महाकाल मंदिर में फोटो लेने पर रोक, कांग्रेस ने पूछा-मोदीजी को क्यों दी इजाजत!

0
8

भोपाल. प्रसिद्ध ज्योतिर्लिंग उज्जैन के महाकाल मंदिर के गर्भ गृह में मोबाइल फोन ले जाने, सेल्फी लेने और वीडियो बनाने पर रोक लगा दी गयी है. कांग्रेस नेता राहुल गांधी के भारत जोड़ो यात्रा पर उज्जैन पहुंचने से ऐन पहले महाकाल मंदिर समिति का ये बड़ा फैसला है. कांग्रेस ने इसे भेदभाव की राजनीति करार दिया है. पार्टी ने गर्भ गृह में दर्शन के समय फोटो पर प्रतिबंध लगाने पर सवाल खड़े किए हैं.

कांग्रेस नेता राहुल गांधी भारत जोड़ो यात्रा लेकर 20 नवंबर को बुरहानपुर पहुंच रहे हैं. उनकी यात्रा मालवा और निमाड़ इलाके से गुजरेगी. उज्जैन में महाकाल के दर्शन और पूजन का कार्यक्रम है. हो सकता है प्रियंका गांधी भी इसमें शामिल होने उज्जैन पहुंचें. उससे ठीक पहले महाकाल मंदिर के गर्भगृह में फोटो लेने पर रोक लगा दी गयी है.

राहुल गांधी के दर्शन के पहले रोक क्यों
कांग्रेस विधायक महेश परमार के मुताबिक राहुल गांधी का 1 दिसंबर को महाकाल मंदिर में दर्शन का कार्यक्रम होना है. राहुल गांधी महाकाल के भक्त हैं और वह पूरी आस्था और श्रद्धा के साथ पूजा-अर्चना करने वाले हैं. लेकिन उनके दर्शन से पहले ही महाकाल के गर्भ गृह और नंदीहाल में फोन के इस्तेमाल, सेल्फी लेने और वीडियो बनाने पर रोक लगाना राजनीतिक मंशा को जाहिर करता है. परमार ने कहा महाकाल लोक के लोकार्पण के समय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी महाकाल मंदिर के गर्भ गृह में पूजा अर्चना करने पहुंचे थे यहां उन्होंने जाप भी किया था. तब इसका सीधा प्रसारण  हुआ था. लेकिन अब जबकि राहुल गांधी दर्शन के लिए पहुंचने वाले हैं उससे पहले जानबूझकर फोटो लेने और वीडियो बनाने पर रोक लगाई गई है. यह राजनीतिक द्वेष को दिखाता है. कांग्रेस मीडिया विभाग के उपाध्यक्ष अजय सिंह यादव ने कहा महाकाल दर्शन में इस तरीके के भेदभाव को अपनाना ठीक नहीं है.

आपके शहर से (उज्जैन)

मध्य प्रदेश

मध्य प्रदेश

ये भी पढ़ें- चुनाव से पहले मध्यप्रदेश में जोड़-तोड़ की राजनीति : नेता प्रतिपक्ष ने किया बड़ा दावा

मंदिर समिति ने दी सफाई
बीते दिनों उज्जैन मेयर के फोटो और एक युवती के मंदिर परिसर में रील बनाने को लेकर खासा विवाद हुआ था. मंदिर के गर्भ गृह से युवती के वीडियो जारी करने के बाद मचे बवाल पर मंदिर प्रबंधन ने गर्भ गृह में फोटो लेने पर प्रतिबंध लगाया है. मंदिर प्रबंधन समिति का ये भी कहना है कि भक्त गर्भगृह में फोटो और वीडियो बनाने लगते हैं इससे दर्शन में देर होती है. इसी वजह से मंदिर में दर्शन की व्यवस्था को भी बदला गया है.

मंदिर समिति का राजनीतिक फैसला
मंदिर प्रबंधन का यह फैसला ऐसे समय में लिया गया है जब 1 दिसंबर को राहुल गांधी महाकाल मंदिर में दर्शन और पूजा के लिए आ रहे हैं. पीएम मोदी के बाद राहुल गांधी के महाकाल में दर्शन करने को कांग्रेस जोर शोर के साथ प्रचारित कर रही है लेकिन अब राहुल गांधी के दर्शन के दौरान भी कोई फोटो या वीडियो प्रसारित नहीं हो सकेगा. यही वजह है की पार्टी ने मंदिर समिति के इस फैसले को राजनीतिक फैसला बताया

पीएम मोदी का लाइव कवरेज
पीएम मोदी ने अक्टूबर में महाकाल मंदिर से लगे महाकाल लोक का लोकार्पण किया था. इससे पहले उन्होंने महाकालेश्वर ज्योतिर्लिंग मंदिर में पूजा अर्चना की. इसके फोटो और वीडियो प्रसारित किए गए थे. लेकिन अब जबकि राहुल गांधी का महाकाल में दर्शन का कार्यक्रम है उससे पहले महाकाल मंदिर प्रबंधन में फोटो और वीडियो जारी करने पर रोक लगाकर कांग्रेस को सवाल खड़े करने का मौका दे दिया है.

Tags: Bharat Jodo Yatra, Madhya pradesh latest news, Mahakaleshwar temple, Rahul gandhi latest news