वैक्सीन लगवाने के बाद भी लोगों में दिख सकते हैं कोविड के ये नए लक्षण, जानें

0
20

हाइलाइट्स

कोविड-19 के लक्षण फ्लू के रूप में भी आ सकते हैं.
कोविड का बदल गया है वेरिएंट.
बढ़ रहे हैं देश-विदेश में कोविड के मामले.

New Symptoms Of Covid-19- कोविड-19 के बढ़ते मामलों में पहले से काफी कमी आई है लेकिन अभी भी कोविड-19 के नए मामले सामने आ रहे हैं. हाल ही में डब्‍ल्‍यू एच ओ की ओर से चेताया गया था कि महामारी अभी खत्म नहीं हुई है और लोगों को इसके प्रति सावधान रहना चाहिए. अन्य देशों में ही नहीं बल्कि भारत में भी कोरोना वायरस के मामले बढ़ रहे हैं. 21 नवंबर तक कुल केसेस की संख्या 4,46,69,421 हो गई है जिसमें से एक्टिव केस 6,402 है. कोरोना की तीनों डोज लगने के बावजूद लोगों को दोबारा से कोरोना के लक्षण महसूस हो रहे हैं. हालां‍कि अब लोगों को पुराने लक्षणों के साथ नए लक्षणों का भी सामना करना पड़ रहा है. जो किसी के लिए सामान्य हैं तो किसी के लिए गंभीर हो सकते हैं.

ये भी पढ़ें: क्या अंडा खाने से आपको होती है एलर्जी? जानिए इसके लक्षण, कारण और बचाव

हालिया विश्लेषण के अनुसार इन दिनों ऑमिक्रॉन के लक्षण लोगों को अधिक परेशान कर रहे हैं. ऑमिक्रान के लक्षण फ्लू जैसे ही होते हैं जिसे लोग नजरअंदाज कर रहे हैं. हालांकि वैक्सीनेटेड लोगों को इसके लक्षण अलग-अलग हो सकते हैं. एवरी डे हेल्थ के अनुसार वैक्सीनेटेड लोगों को पहले की अपेक्षा अलग लक्षण दिखाई दे सकते हैं.

वैक्सीन के बाद कोरोना के लक्षण
–  हाथ-पैरों में दर्द
–  स्किन में एलर्जी
–  आंखों में रेडनेस
–  मसल्स पेन
–  तेज सिरदर्द
–  गले में दर्द
–  छींक

क्यों हो रहा है लक्षणों में बदलाव
यह पूरी तरह से स्पष्ट नहीं है कि लक्षणों में ये बदलाव क्यों आ रहा है लेकिन स्टेंडफोर्ड यूनिवर्सिटी के विशेषज्ञ और प्रोफेसर्स का मनना है कि Zoe डेटा पिछले कुछ महीनों में कोविड-19 संक्रमण के सा‍थ देखा जा रहा है. इसलिए इसके लक्षणों में बदलाव आ सकता है. वहीं डॉ. विंसलो का कहना है कि वैक्सीनेशन और पूर्व संक्रमण के कारण लोगों में इम्यूनिटी डेवलप हो गई है जिस वजह से शरीर में वायरस अलग तरह से रिएक्ट कर सकता है.

ये भी पढ़ें: हार्टबर्न से बचने के लिए दवाइयों के बजाय लाइफस्टाइल में करें ये 5 बदलाव, तुरंत मिलेगा फायदा

फ्लू समझकर बरत रहे हैं लापरवाही
ऑमिक्रॉन के लक्षण सर्दी और फ्लू की तरह ही होते हैं जिस वजह से लोग कोविड-19 का टेस्ट और सावधानी बरतने में लापरवाही कर रहे हैं. हल्की ठंड लगने या सांस लेने में परेशानी होने पर तुरंत टेस्ट कराना जरूरी है. अन्यथा लंग्स को अधिक नुकसान पहुंच सकता है. इसके अलावा मास्क का प्रयोग पूरी तरह से बंद कर दिया गया है जिस वजह से भी केसेस में वृद्धि हो रही है.
कोरोना-19 के लक्षणों की पहचान कर इसका सही ट्रीटमेंट कराना जरूरी है. साथ ही सरकार द्वारा निर्धारित की गई गाइडलाइन को फॉलो करके कई बीमारियों से बचा जा सकता है.

Tags: Covid, Health, Lifestyle