सिर्फ 9 साल की हैं श्रीकृष्ण भावनंदिनी, हजारों भक्तों को सुनाती हैं भागवत कथा

0
11

जबलपुर. जबलपुर में एक नन्ही भागवत कथा वाचक सबका मन मोह रही है. उम्र है महज 9 साल. लेकिन भागवत पाठ ऐसा कि सुनने वाला मंत्रमुग्ध हो जाए. नाम है श्रीकृष्ण भावनंदिनी. आमतौर पर जिस उम्र में बच्चियां स्कूल की शुरुआती शिक्षा हासिल करती हैं. उस उम्र में यह बच्ची भागवत के कठिन श्लोकों का वाचन करके सबको हैरान कर रही है. जबलपुर की रहने वाली श्रीकृष्ण भावनंदिनी सात साल की उम्र से कथा वाचन कर रही है. इस नौ साल की नन्ही कथावाचक को सुनने हजारों श्रोताओं की भीड़ उमड़ पड़ती है.

जबलपुर की रहने वाली बाल विदुषी अपनी भागवत कथा सुनाकर कई श्रद्धालुओं के दिलों पर राज कर रही है. सिर्फ 9 साल की उम्र में भावनंदिनी भागवत के कठिन श्लोकों इस तरह से वाचन करती है, कि सुनने वाले भक्ति रस में डूब जाते हैं. भागवत कथा वाचन श्रीकृष्ण भावनंदिनी ने महज 7 साल की उम्र में शुरू किया था. 2 साल से लगातार सैकड़ों और हजारों श्रोताओं के बीच पूरे आत्मविश्वास के साथ धारा प्रवाह ठंड से भागवत के श्लोकों को पढती है. फिर उनकी मीमांसा करते हुए श्रद्धालुओं को धर्म, अध्यात्म और भागवत का रसपान कराती है.

पिता की राह पर बेटी
9 साल की श्रीकृष्ण भावनंदिनी कथावाचक यूं ही नहीं बनी. बल्कि उन्हें यह अपने पिता से विरासत में मिला है. दरअसल उनके पिता भी व्यास पीठ से कथा वाचन करते आ रहे हैं. घर में धर्म और आध्यात्म का माहौल पाकर श्रीकृष्ण भावनंदिनी भी पिता कि राह पर चल पड़ी और महज कुछ समय के अभ्यास से ही इसमें पारंगत हो गई. लॉक डाउन के दौरान तो श्रीकृष्ण भावनंदिनी पूरे समय भागवत पढ़ती थी. श्लोकों को याद करती और फिर उनकी व्याख्या कर भावार्थ की मीमांसा कर लगी थी.

कथा सुनने उमड़ती है हजारों लोगों की भीड़ 
लॉकडाउन के इस काल में ही 7 साल की मासूम बालिका को बाल विदुषी में बदल दिया. आज हालत यह है कि इस बाल विदुषी श्रीकृष्ण भावनंदिनी के मुख से भागवत कथा सुनने के लिए मीलों दूर से श्रद्धालु पहुंचते हैं. वहीं अपने घर में बालिका कथा वाचक से भागवत कराने के लिए लोगों में होड़ मची रहती है. 9 साल की बाल कथा वाचक श्रीकृष्ण भावनंदिनी कहती है उनके ऊपर भगवान की असीम कृपा है. इसके कारण ही वह इस उम्र में भी भागवत के गूढ़ ज्ञान से श्रोताओं और श्रद्धालुओं को परिचित करा पा रही हैं.

ब्रेकिंग न्यूज़ हिंदी में सबसे पहले पढ़ें News18 हिंदी| आज की ताजा खबर, लाइव न्यूज अपडेट, पढ़ें सबसे विश्वसनीय हिंदी न्यूज़ वेबसाइट News18 हिंदी|

FIRST PUBLISHED : November 17, 2022, 11:03 IST