हिमाचल प्रदेश चुनाव परिणाम से पहले कांग्रेस नेताओं की दिल्ली दौड़, जानें क्यों

0
19

शिमला. हिमाच प्रदेश चुनाव परिणाम से पहले प्रदेश कांग्रेस के कई आला नेताओं की दिल्ली दौड़ के कई सियासी मायने निकाले जा रहे हैं. खबरें इस तरह की आ रही हैं कि सीएम पद की लॉबिंग के लिए नेता दिल्ली दरबार में डटे हैं. इस बीच सबसे पहले दिल्ली पहुंचे ठियोग विधानसभा सीट से कांग्रेस प्रत्याशी और पार्टी के पूर्व प्रदेशाध्यक्ष कुलदीप राठौर ने नेताओं को संयम बरतने की सलाह दी है.

कांग्रेस के राष्ट्रीय प्रवक्ता कुलदीप राठौर ने गुरुवार को राजधानी शिमला में कहा कि कांग्रेस के सामने चुनौतियां बहुत हैं, फिलहाल नतीजों का इंतजार करना चाहिए, जल्दबाजी सही नहीं है. बता दें कि राठौर राहुल गांधी के करीबी माने जाते हैं और कांग्रेस सरकार बनने पर उन्हें किसी बड़े पद से नवाजा जा सकता है. इस सवाल पर उन्होंने कहा कि वे किसी रेस में नहीं हैं.

कुलदीप राठौर ने ठियोग से जीत के साथ साथ प्रदेश में कांग्रेस की पूर्ण बहुमत की सरकार बनने का दावा किया. अपने दिल्ली दौरे को लेकर उन्होंने कहा कि वे पार्टी के राष्ट्रीय प्रवक्ता भी हैं और पार्टी के पूर्व निर्धारित कार्यक्रमों में हिस्सा लेने के लिए ही दिल्ली गए थे.

आपके शहर से (शिमला)

हिमाचल प्रदेश

हिमाचल प्रदेश

बता दें कि हिमाचल प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष प्रतिभा सिंह, कौल सिंह ठाकुर, सुखविंद्र सिंह सुक्खू, मुकेश अग्निहोत्री, कर्नल धनी राम शांडिल, राम लाल ठाकुर, अनिरूद्ध सिंह, विक्रमादित्य सिंह समेत कई नेताओं ने दिल्ली में पार्टी के आला नेताओं से मुलाकात की है, इनमें से कई नेता अभी भी दिल्ली में डटे हुए हैं.

कांग्रेस के नेता भले की कैमरे पर इस बात से इनकार कर रहे हैं कि किसी तरह की लॉबिंग के लिए दिल्ली में डटे हैं. लेकिन, संकेत यही है कि कांग्रेस चुनावों में जीत के प्रति आश्वस्त है और इसलिए पहले से ही आगामी रणनीति बनाने में जुटे हैं. सभी नेता एक सुर में कह रहे हैं कि पार्टी के विधायक और आलाकमान तय करेंगे कि आखिर मुख्यमंत्री कौन बनेगा. जानकारी तो ये भी है कि दिल्ली में नेताओं की डिनर डिप्लोमेसी भी शुरू हो गई है.