Bharat Jodo Yatra : हल्दी घाटी की मिट्टी लेकर निकला युवक, राहुल गांधी को तिलक लगाकर साथ चलना है मकसद

0
13

रिपोर्ट – निशा राठौड

उदयपुर. राहुल गांधी की भारत जोड़ो यात्रा को अब मेवाड़ का आशीर्वाद मिलने वाला है. महाराणा प्रताप की वीर भूमि से एक युवक हल्दी घाटी की माटी लेकर यात्रा में शामिल होने के लिए पैदल निकल पड़ा है. राहुल गांधी कन्याकुमारी से रवाना होकर कश्मीर पहुंचेंगे, ऐसे में उदयपुर से पैदल निकले मुबीन मोहम्मद सिंधी आने वाले दिनों में राजस्थान की सीमा पर राहुल गांधी से मिलेंगे. वह हल्दी घाटी की मिट्टी का तिलक राहुल को लगाकर कश्मीर तक भारत जोड़ो यात्रा में साथ चलेगे. मुबीन हल्टी घाटी से नाथद्वारा, मावली, फतेहनगर, कपासन होते हुए 6 दिनों में चितौडगढ़ और कोटा होते हुए उनकी यात्रा में शामिल होगे. भारत जोड़ो यात्रा में मुबीन ऐसे पहले शख्स हैं, जो अकेले पैदल अपने क्षेत्र से चलकर जा रहे हैं.

त्याग, तपस्या और बलिदान की भूमि मेवाड़ हमेशा लोगों को जोड़ने की बात करती आई है. ऐसे में उदयपुर से मुबीन हल्दीघाटी की मिट्टी की सौगात और संदेश लेकर राहुल गांधी के साथ कदमताल करने के लिए चल पड़े हैं. मुबीन का कहना है कि राजस्थान की सीमा में जहां भी राहुल गांधी से मुलाकात होगी, हल्दीघाटी की मिट्टी से वहीं उनका तिलक करेंगे और उसके बाद कश्मीर तक उनकी यात्रा में शामिल हो जाएंगे. करीब 2000 किलोमीटर की इस पैदल यात्रा में मुबीन को 3 महीने का समय लगेगा.

‘महाराणा प्रताप के साथ थीं 36 कौमें’

मुबीन का कहना है कि हकीम खां सूरी, राणा पूंजा और भीलू राणा के अलावा 36 कौमों को साथ लेकर चले महाराणा प्रताप ने मेवाड़ की आजादी को अक्षुण्ण बनाए रखने के लिए हल्दी घाटी का युद्ध लड़ा था. मुबीन के मुताबिक जब देश में क्षेत्रों और मज़हब की खाई बढ़ती जा रही है, भारत को जोड़ने की इस यात्रा में राहुल गांधी को हल्दी घाटी की माटी सभी धर्मों को जोड़ने का कारगर संदेश देगी.

दोस्तों और परिवार ने ऐसे दिया हौसला

मुबीन को अलविदा कहते समय सभी की आंखें भर आईं. मित्र विक्रम चौधरी, महेन्द्र सिंह, कुणाल प्रभाकर और नरेन्द्र सिंह उन्हें हल्दीघाटी तक छोड़ने पहुंचे थे. मुबीन की पत्नी महजबीन बानो ने कहा ‘हज़ारों किलोमीटर की पैदल यात्रा के बारे में सोचना ही बड़ी बात है. ऐसे में परिवार को मनाने के लिए काफी दिनों से प्रयास कर रहे थे. पहले तो हम लोगों ने भी मना किया, मगर उनके जूनून, सर्वधर्म प्रेम को देखकर मानना ही पड़ा.’

मुबीन के दोस्त नरेन्द्र सिंह और कुणाल प्रभाकर ने कहा मुबीन बचपन से ही ज़िद्दी है. जो ठानता है, उसे पूरा जरूर करता है. सर्वधर्म प्रेम और देशभक्ति की भावना उसमें बचपन से हम देखते आए हैं. बता दें कि मुबीन पेशे से एडवोकेट हैं, जो उदयपुर ज़िले की वल्लभनगर तहसील के सिंधियों के बड़गांव के रहने वाले हैं. इस यात्रा के लिए मुबीन पिछले दो महीनों से रोजाना 15-15 किलोमीटर पैदल चलने की प्रैक्टिस कर रहे थे.

Tags: Bharat Jodo Yatra, Udaipur news