Birth Anniversary: नशे में धुत दिखने वाले जॉनी वॉकर ने कभी नहीं पी थी शराब, गुरुदत्त ने दिया था नाम

0
16

मुंबई: जॉनी वॉकर (Jonny Walker) ने अपनी अदाकारी से लोगों को गुदगुदाया और खूब हंसाया. अब फिल्मों में कॉमेडी एक्टर्स नहीं के बराबर हैं, क्योंकि अब लीड एक्टर्स के जिम्मे ही कॉमेडी करना भी है. पहले ऐसा नहीं था, तभी तो जॉनी वॉकर, जॉनी लीवर, टुनटुन जैसे कॉमेडी एक्टर्स अपने खास अंदाज के लिए मशहूर थे. 50-70 के दशक में फिल्म इंडस्ट्री के मशहूर कॉमेडियन जॉनी वॉकर का जन्म 11 नवंबर 1926 में मध्य प्रदेश के इंदौर में हुआ था. इनके माता-पिता ने नाम बदरुद्दीन जमालुद्दीन काजी (Badruddin Jamaluddin Kazi) रखा था. बदरुद्दीन को जॉनी वॉकर बनाने वाले गुरुदत्त (Guru Dutt) थे.

रोते हुए को हंसाना खुदा की इबादत से कम नहीं होता है. खुदा के ऐसे ही खितमदगार थे जॉनी वॉकर. जॉनी की अदा ही कुछ ऐसी थी कि अगर वह कुछ भी ना करें तो भी उन्हें देख कर ही लोगों को हंसी आने लगती थी. ‘सर जो तेरा चकराए…’  गाना आज भी दर्शकों को पसंद आता है. करीब 335 फिल्मों में काम करने वाले बदरुद्दीन का जॉनी वॉकर बनने का सफर भी मजेदार है.

अनोखे अंदाज में टिकट काट सवारियों को हंसाते थे बदरुद्दीन
बदरुद्दीन जमालुद्दीन काजी के पिता इंदौर की एक फैक्ट्री में मजदूरी किया करते थे. किसी वजह से फैक्ट्री बंद हो गई. परिवार का गुजारा चलाना मुश्किल हो गया तो पूरा परिवार इंदौर से मुंबई आ गया. बदरुद्दीन बचपन से ही एक्टर बनने का ख्वाब देखा करते थे, लेकिन 10 भाई-बहनों वाले बदरुद्दीन को घर खर्च चलाने के लिए बस कंडक्टर की नौकरी करनी पड़ी. बस कंडक्टर बदरुद्दीन अपने अनोखे अंदाज में टिकट काटते और सवारियों का खूब मनोरंजन करते थे. एक बार बदरुद्दीन को देख मशहूर एक्टर बलराज साहनी को मजा आ गया.

बदरुद्दीन की एक्टिंग देख गुरुदत्त ने नाम रखा जॉनी वॉकर
इन्हीं दिनों गुरु दत्त अपनी फिल्म ‘बाजी’ की तैयारी में जुटे थे. उन्हें एक कैरेक्टर के लिए एक्टर की तलाश थी. बलराज ने गुरु दत्त से बस कंडक्टर का जिक्र किया. गुरु जब उनसे मिले और शराबी की एक्टिंग करवा कर देखी तो हैरान रह गए. इस तरह जॉनी को पहली बार ‘बाजी’  फिल्म में काम मिल गया. ‘बाजी’  फिल्म में में देव आनंद और गीता बाली लीड रोल में थीं. बदरुद्दीन नाम कुछ जम नहीं रहा था. मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक गुरु दत्त ने फेमस व्हिस्की ब्रांड के नाम पर बदरुद्दीन का नाम जॉनी वॉकर का नाम रख दिया. हालांकि उन्हें भी नहीं पता होगा कि ये नाम इस कदर मशहूर हो जाएगा.  गुरु दत्त जॉनी को इतना पसंद करते थे कि अपनी फिल्मों में खास तौर पर उनके लिए रोल लिखा करते थे.

जॉनी वॉकर जब शराब के नशे में धुत कैरेक्टर में होते थे तो उन्हें स्क्रीन पर देख कर हर किसी को लगता था कि शराब पीकर रोल कर रहे हैं. जबकि असलियत यह थी कि जॉनी वॉकर ने कभी भी शराब को हाथ नहीं लगाया था. जॉनी वॉकर ने अपनी को-एक्ट्रेस शकीला का बहन नूरजहां से शादी की थी. इनके 3 बेटे और 3 बेटियां हैं. आर्थिक तंगी की वजह से जॉनी की पढ़ाई तो नहीं हो पाई थी लेकिन कहते हैं कि अपने बच्चों को एक्टर ने खूब पढ़ाया.

Tags: Actor, Birth anniversary