Good News: दरभंगा रेल बाइपास बनते ही महज 15 घंटे में पूरी होगी मिथिलांचल से दिल्ली की यात्रा

0
24

रिपोर्ट : अभिनव कुमार

दरभंगा. मिथिला और पूर्वोत्तर क्षेत्र के लोगों को भारतीय रेल एक बड़ी सौगात देने जा रहा है. बहुत जल्द अब इन क्षेत्रों के लोगों को देश की राजधानी दिल्ली की यात्रा करने में 4 से 5 घंटे कम लगेंगे. गौरतलब है कि दरभंगा रेल बाइपास बन जाने से इन क्षेत्रों के लोगों को दिल्ली जाने के लिए एक नया रूट मिल जाएगा, जिससे यात्रा भी सुगम हो जाएगी.

फिलहाल, संपर्क क्रांति से लोगों को दिल्ली की यात्रा करने में 20 घंटे से ज्यादा समय लग जाता है. लेकिन इस न्यू दरभंगा रेल बाइपास के शुरू होने के बाद महज 15 से 16 घंटे में वह दिल्ली तक की अपनी यात्रा पूरी कर सकेंगे. इस रेल बाइपास के बनने से दरभंगा, सीतामढ़ी, नरकटियागंज यहां तक कि नेपाल के लोगों को भी काफी फायदा पहुंचेगा.

राजधानी और तेजस के लिए बाइपास

दरभंगा न्यू स्टेशन बनने से इस बाइपास पर राजधानी, तेजस, दुरंतो जैसे ट्रेनों का परिचालन रेलवे द्वारा किए जाने की संभावना बढ़ गई है. ऐसे में इस रेल बाइपास बनने से दरभंगा स्टेशन आकर ट्रेनों को जाने की जरूरत नहीं पड़ेगी. वह सीधा रूट अपनाएगी और न्यू दरभंगा रेलवे स्टेशन होते हुए रेल बाइपास के जरिए निकल जाएगी. इसके बनने से तेजस और दुरंतो जैसे ट्रेनों का भी परिचालन का मार्ग प्रशस्त हो जाएगा.

रामायण सर्किट से भी जुड़ेगा बाइपास

इस रेल बाइपास के जरिए रामायण सर्किट को भी जोड़ा जाएगा. अगर हम रूट की बात करें तो यह 253 करोड़ की लागत से बनने वाला 10 किलोमीटर का रेल बाइपास दरभंगा सीशो में बन रहा है. वहीं दरभंगा न्यू स्टेशन भी विकसित हो रहा है. यह रेल बाइपास दरभंगा, सीतामढ़ी, नरकटियागंज होते हुए गोरखपुर में मिलेगा, इस रूट पर चलने वाली ट्रेनें जनकपुर होते हुए भी जाएंगी.

10 किमी बाइपास से बचेंगे 5 घंटे

दरभंगा सांसद गोपालजी ठाकुर बताते हैं कि पिछले बजट में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की सरकार ने 253 करोड़ की लागत से 10 किलोमीटर का एक रेल बाइपास बनाना तय किया था. जब यह रेल बाइपास तैयार हो जाएगा तो मिथिला के लोगों के साथ सीतामढ़ी, गोरखपुर वाया दिल्ली जाने का रास्ता प्रशस्त हो जाएगा और इस रेललाइन पर राजधानी जैसी ट्रेनों का भी परिचालन होने वाला है. कह सकते हैं कि मिथिला क्षेत्र से जुड़े लोगों को बहुत ही जबरदस्त फायदा मिलेगा.

Tags: Bihar News, Darbhanga news, Indian railway