Healthy bone: हड्डियों की मजबूती के लिए सिर्फ कैल्शियम से काम नहीं चलेगा, ये विटामिन भी है जरूरी, ऐसे बनाएं हेल्दी बोन

0
16

हाइलाइट्स

मजबूत हड्डियों के लिए विटामिन डी, के और सी युक्त चीजों का सेवन भी जरूरी है.
विटामिन सी हड्डियों में क्षय होने से रोकता है. नींबू, संतरा साइट्रस फ्रूट है.

How to make bones stronger: शरीर का पूरा आधार हड्डियों पर टिका होता है. हड्डियों की मजबूत के लिए कैल्शियम का पर्याप्त मात्रा में होना जरूरी है लेकिन हड्डियों को मजबूत बनाने के लिए कैल्शियम के साथ-साथ प्रोटीन, विटामिन और कई अन्य तरह के मिनिरल्स का होना भी जरूरी है. 20 वर्ष तक की उम्र तक शरीर की हड्डियों में वृद्धि जारी रहती है लेकिन इसके बाद हड्डियों की लंबाई में वृद्धि न के बराबर होती है. 30 वर्ष के बाद यह पूरी तरह बंद हो जाती है और इसके बाद कार्टिलेज का बनना भी बंद हो जाता है. इसके साथ ही कार्टिलेज में क्षय होना शुरू होता है. इन हड्डियों को इसके बाद भी पोषक तत्वों की जरूरत होती है. हड्डियों का अधिकांश हिस्सा कैल्शियम से बना होता है लेकिन इसमें अन्य खनिज लवण और विटामिन भी मौजूद रहता है. हड्डियों की मजबूती के लिए ग्रोथ हार्मोन, पिट्यूटरी ग्लैंड और प्रजनन हार्मोन भी प्रभावित करता है. इसलिए हड्डियों की मजबूती के लिए इन सभी कारकों को ध्यान में रखना जरूरी है.

इसे भी पढ़ें-Sonam Kapoor: सोनम कपूर ने क्यों दिया जेंटिल बर्थ मेथड से बच्चे को जन्म, जानिए क्या प्रोसेस है इसका

हड्डियों की मजबूती के लिए कई कारक जिम्मेदार
30 के बाद हड्डियों की मजबूती आपकी डाइट पर निर्भर करता है. यदि डाइट में कैल्शियम सहित विटामिन, मिनिरल्स, प्रोटीन और हार्मोन को रिलीज करने वाले फूड को शामिल किया जाता है, तो इससे हड्डियां मजबूत होती है लेकिन अगर डाइट में इन चीजों की कमी हो जाए तो हड्डियां कमजोर होने लगती है और इससे कई बीमारियों का जोखिम बढ़ जाता है. इससे ऑस्टियोपोरोसिस, ऑर्थराइटिस, न्यूरोमेटिस, जोड़ों में दर्द की परेशानी बढ़ जाती है. जिन लोगों को ये परेशानियां हैं उनके लिए सर्दी में यह किसी आफद से कम नहीं है. इसलिए सिर्फ कैल्शियम से काम नहीं चलेगा. इसके लिए विटामिन डी, के और सी युक्त चीजों का सेवन भी जरूरी है. विटामिन सी के कारण बोन के बनाने वाले सेल्स सक्रिय होते हैं जिसके कारण हड्डियों में मजबूती बरकरार रहती है.

इन चीजों को करें डाइट में शामिल

  • हरी सब्जी-बेशक आप कैल्शियम के लिए दूध का सेवन करें लेकिन वेबएमडी  के मुताबिक हड्डियों की मजबूती के लिए हरी सब्जियों का सेवन सबसे ज्यादा जरूरी है. हरी पत्तीदार सब्जियों में विटामिन के पाया जाता है जो ऑस्टियोपोरोसिस के जोखिम को कम करता है.
  • शकरकंद-अगर शरीर में मैग्नीशियम की कमी होगी तो इससे विटामिन डी कै बैलेंस बिगड़ जाएगा और अगर विटामिन डी का बैलेंस बिगड़ जाएगा तो कैल्शियम का शरीर में अवशोषण नहीं हो पाएगा. इसके अलावा पोटैशियम एसिड को न्यूट्रलाइज करता है. अगर पोटैशियम नहीं रहेगा तो कैल्शियम हड्डियों से रिस जाएगा. शकरकंद में ये तीनों चीजें हैं जो हड्डियों की हेल्थ में रामबाण है.
  • साइट्रस फ्रूट-विटामिन सी हड्डियों में क्षय होने से रोकता है. नींबू, संतरा साइट्रस फ्रूट है. इनमें भरपूर मात्रा में विटामिन सी पाया जाता है. विटामिन सी रोग प्रतिरोधक क्षमता को भी बढ़ाता है.
  • अंजीर-पांच छोटे अंजीर में 90 मिलीग्राम कैल्शियम होता है. इसके अलावा इसमें पोटैशियम और मैग्नीशियम भी मौजूद होता है. इसलिए हड्डियों की मजबूती में अंजीर का सेवन बहुत फायदेमंद होता है.
  • टूना मछली-शरीर में कैल्शियम तभी रूकेगा जब विटामिन डी पर्याप्त मात्रा में होगा. विटामिन डी ही ओमेगा 3 फैटी एसिड को रोकता है. दिलचस्प बात यह है कि टूना मछली में विटामिन डी तो होता ही है, ओमेगा 3 फैटी एसिड भी पर्याप्त मात्रा में मौजूद रहता है.

Tags: Health, Health News, Health tips, Lifestyle