Kanya Rashi: अनुशासन प्रिय होते हैं कन्या राशि के जातक, जानें उनकी और भी विशेष बातें

0
20

हाइलाइट्स

कन्या राशि का स्वामी बुध ग्रह को माना जाता है.
बुध को नौ ग्रहों में राजकुमार की उपाधि मिली हुई है.

Kanya Rashi: ज्योतिष शास्त्र के अनुसार व्यक्ति के जीवन में राशियों का अहम रोल होता है. जन्म लेने वाले हर व्यक्ति की एक राशि होती है. जन्म के समय जन्म पत्रिका में चंद्रमा जिस राशि में होता है. उसे ही व्यक्ति की राशि कहा जाता है. हर व्यक्ति का स्वभाव उसकी राशि से जुड़ा हुआ होता है. कुछ राशियों में आत्मविश्वास ज्यादा होता है तो कुछ में ईमानदारी. कुछ राशि के लोग जिद्दी स्वभाव के होते हैं और कुछ दृढ़ प्रतिज्ञ और कुछ कठोर, सभी राशियां अलग-अलग तत्वों से संबंधित होती हैं. इसी वजह से उनके जातकों का स्वभाव भी अलग-अलग होता है. इसी क्रम में आज हमे भोपाल के रहने वाले ज्योतिषी एवं पंडित हितेंद्र कुमार शर्मा बता रहे हैं कन्या राशि के जातक कैसे होते हैं.

– कन्या राशि के जातकों का व्यक्तित्व

कन्या राशि का स्वामी बुध ग्रह को माना जाता है. बुध को नौ ग्रहों में राजकुमार की उपाधि मिली हुई है. बुध ग्रह के प्रभाव के कारण ही कन्या राशि वाले जातक स्वभाव से अस्थिर होते हैं. कन्या राशि के जातक ज्यादातर दुबले-पतले पाए जाते हैं. इसके अलावा कन्या राशि में जन्म लेने वाले लोग अपने मन में बातों को दबा कर रखते हैं और रहस्यमयी प्रवृत्ति के पाए जाते हैं.

यह भी पढ़ें – आंगन में गौरैया दिखना इस तरफ करता है इशारा, पहचानें अच्छे समय के ये 4 संकेत

अगर यह किसी काम को करने की ठान लें तो उसे पूरा करके ही दम लेते हैं. कन्या राशि के जातकों को अनुशासन पसंद होता है. इसी कारण यह अपने कार्य क्षेत्र में सफलता प्राप्त करते हैं. कन्या राशि के जातक अपने स्वभाव से काफी विनम्र और मीठा वाणी बोलने वाले होते हैं.

यह भी पढ़ें – जीवन में पाना चाहते हैं सफलता तो आज ही घर के आंगन में लगाएं नारियल का पेड़

-दाम्पत्य जीवन और पेशा

बुध ग्रह के प्रभाव के कारण कन्या राशि के जातकों का जीवन अस्थिरता से भरा हुआ होता है. इस राशि के जातकों का दांपत्य जीवन सामान्य बीतता है. इसके अलावा इस राशि के जातक पत्रकार, वकील, अध्यापक, प्रोफेसर, लेखपाल, चिकित्सक, महाजन जैसे वाणी आधारित पेशे से जुड़े होते हैं.

Tags: Astrology, Dharma Aastha, Predictions, Religion