Sleep Hygiene: क्या है स्‍लीप हाइजीन, तनाव को कम करना है तो अपनाएं ये स्‍लीप रूटीन

0
11

हाइलाइट्स

स्‍लीप हाइजीन से कई समस्‍याओं से छुटकारा मिल सकता है.
स्‍लीप हाइजीन की मदद से तनाव को कम किया जा सकता है.
बेहतर नींद के लिए स्‍लीप रुटीन फॉलो करें.

How To Follow Sleep Hygiene: पिछले कुछ सालों में नींद से जुड़ी समस्‍याओं के मामलों में काफी इजाफा हुआ है. अपर्याप्‍त नींद मानसिक विकास ही नहीं बल्कि शारीरिक विकास पर भी प्रभाव डालती है. हेल्‍थलाइन के अनुसार अच्‍छी नींद व्‍यक्ति के विकास में अहम भूमिका निभा सकती है. जिन लोगों को नींद में चलने की बीमारी है, रात में देर तक जागने की समस्‍या है या कच्‍ची नींद में उठने की आदत है तो वे स्‍लीप हाइजीन को अपनाना सकते हैं. स्‍लीप हाइजीन डिप्रेशन और तनाव को कम करने में भी मदद कर सकती है. एक अच्‍छी नींद के लिए दिन और सोने की आदतों में बदलाव किया जा सकता है.

क्‍या है स्‍लीप हाइजीन
हेल्थ लाइन के अनुसार स्‍लीप हाइजीन का मतलब है नींद की अच्‍छी आदतें. अच्‍छी नींद के लिए स्‍लीप हाइजीन महत्‍वपूर्ण है क्‍योंकि अच्‍छी नींद व्‍यक्ति के मानसिक और शारीरिक स्‍वास्‍थ्‍य के साथ-साथ हेल्‍दी लाइफ के लिए भी जरूरी है. व्‍यक्ति के दिनभर की एक्टिविटी, खाना और काम करने की आदत नींद पर असर डाल सकती है. स्‍लीप हाइजीन के चलते लाइफस्‍टाइल में छोटे-छोटे बदलाव करके नींद की क्‍वालिटी को सुधारा किया जा सकता है. यदि आपको अच्‍छी नींद नहीं आती तो रात में सोने से पहले कुछ अच्‍छी आदतों को अपनाया जा सकता है. 

बनाएं स्‍लीप शेड्यूल– अच्‍छी नींद के लिए 7-8 घंटे का स्‍लीप शेड्यूल बनाना बेहद जरूरी है. इससे दिन में नींद और आलस कम आएगा. 

गर्म पानी से नहाएं– स्‍लीप हाइजीन के तहत सोने से पहले गर्म पानी से नहाया जा सकता है. इससे शरीर की मांसपेशियां रिलेक्‍स हो सकती हैं. 

ये भी पढ़ें: लंग्स के लिए घातक है अनहेल्दी हवा, प्रदूषण के प्रभाव को कम करने के लिए अपनाएं ये तरीके

बंद करें इलेक्‍ट्रॉनिक डिवाइस– सोने से लगभग 30 मिनट पहले मोबाइल और लैपटॉप को बंद कर देना चाहिए. स्‍क्रीन की ब्‍लू लाइट नींद पर प्रभाव डाल सकती है. 

करें एक्‍सरसाइज– सोने से पहले बेड एक्‍सरसाइज की जा सकती हैं. इससे शरीर को रिलेक्‍स करने में मदद मिल सकती है. 

ब्रश करें– सोने से पहले ब्रश करने की आदत बनाएं. इससे दांतों की समस्‍या से बचा जा सकता है. साथ ही स्‍लीप क्रेविंग को कम कर सकते हैं. 

कॉफी का कम सेवन– रात की अच्‍छी नींद के लिए दिन में कॉफी का कम सेवन करें. कॉफी का सेवन सुबह के समय करना फायदेमंद हो सकता है. 

सिर्फ सोने के लिए जाएं बैड पर– बैड का इस्‍तेमाल सिर्फ सोते समय किया जाना चाहिए. पढ़ने, काम करने, फोन पर बात करने  या टीवी देखते वक्‍त बैड का प्रयोग नहीं करना चाहिए. 

ये भी पढ़ें:सर्दी के मौसम में विटामिन D के सेवन से दूर करें आलस, अपनाएं से असरदार बेस्ट हेल्दी फूड्स

क्‍वालिटी स्‍लीप के लिए स्‍लीप हाइजीन को अपनाया जा सकता है. इससे लाइफस्‍टाइल भी बेहतर हो सकती है.

Tags: Health, Lifestyle