World Pneumonia Day 2022: कब मनाया जाता है वर्ल्‍ड निमोनिया डे? जानें इसका इतिहास और उद्देश्‍य

0
20

हाइलाइट्स

निमोनिया के लक्षणों को न करें नजरअंदाज.
निमोनिया में बच्‍चों और बुजुर्गों का रखें विशेष ध्‍यान.

2022 World Pneumonia Day: निमोनिया की शुरुआत सर्दी, खांसी और जुखाम से होती है. ये एक बैक्‍टीरियल इंफेक्‍शन है जो धीरे-धीरे फेफड़ों पर अटैक करता है. इंफेक्‍शन बढ़ने पर बुखार, सांस लेने में तकलीफ और दर्द की समस्‍या होने लगती है. निमोनिया किसी भी उम्र में हो सकता है लेकिन भारत में ये बीमारी जन्‍म लेने वाले बच्‍चे को अधिक होती है. डब्‍ल्‍यूएचओ की रिपोर्ट के अनुसार विश्‍वभर में निमोनिया की चपेट में लाखों लोग आते हैं लेकिन 1 से 6 साल तक के बच्‍चों में ये समस्‍या गंभीर रूप ले सकती है.

निमोनिया रूपी वायरस के प्रति लोगों को सचेत करने के उद्देश्‍य से हर वर्ष 12 नवंबर को वर्ल्‍ड निमोनिया डे मनाया जाता है. चलिए जानते हैं इसके इतिहास के बारे में.

वर्ल्‍ड निमोनिया डे का इतिहास

वर्ल्‍ड निमोनिया डे की शुरुआत पहली बार ‘ग्‍लोबल कोएलिशन अगेंस्‍ट चाइल्‍ड निमोनिया’ द्वारा 12 नवंबर 2009 में की गई थी. इस एसोसिएशन का मुख्‍य उद्देश्‍य विश्‍वभर में निमोनिया से होने वाली मृत्‍यु दर को कंट्रोल करना था. इसके अलावा इनका मकसद ज्‍यादा से ज्‍यादा लोगों को अपनी मुहीम में जोड़ना था ताकि निमोनिया के प्रति लोगों को जागरुक किया जा सके. तब से लेकर अभी तक कई देश और 100 से अधिक संस्‍थाएं इस मुहीम के साथ जुड़कर सफल नेतृत्‍व कर रही हैं.

इसे भी पढ़ें-Cholesterol Control Tips: सर्दी में बैड कोलेस्ट्रॉल ने कर रखा है परेशान तो इन 5 फूड से पाएं बेहतर रिजल्ट

वर्ल्‍ड निमोनिया डे का उद्देश्‍य

वर्ल्‍ड निमोनिया डे का मुख्‍य उद्देश्‍य आमलोगों खासकर गरीब तबके को निमोनिया के कारण, लक्षण और उपचार के बारे में जानकारी देना है. इसके द्वारा दुनियाभर में लाखों की संख्‍या में बच्‍चों को निमोनिया से बचाया जा रहा है. इस दिन को मनाने का मुख्‍य उद्देश्‍य 5 साल से कम उम्र के बच्‍चों को प्रॉपर वैक्‍सीनेशन देना है जिससे मृत्‍यु दर को कम किया जा सके.

यह भी पढ़ेंः डेंगू के मरीजों को कब पड़ती है प्लेटलेट चढ़ाने की जरूरत? यहां समझें पूरा गणित

वर्ल्‍ड निमोनिया डे 2022 की थीम

हर वर्ष निमोनिया डे को अलग-अलग थीम में सेलिब्रेट किया जाता है. वर्ल्‍ड निमोनिया डे 2022 की थीम है- ‘निमोनिया के खिलाफ लड़ाई को चैंपियन बनाना’.

निमोनिया के कारण

  • वायरस
  • इंफेक्‍शन
  • फ्लू
  • कॉमन कोल्‍ड

निमोनिया के लक्षण

  • छाती में दर्द
  • चक्‍कर
  • बुखार
  • सांस लेने में परेशानी
  • फेफड़ों में इंफेक्‍शन
  • कमजोरी
  • उल्‍टी
  • मांसपेशियों में दर्द

निमोनिया एक गंभीर समस्‍या के रूप में उभर रही है जिसके प्रति लोगों का जागरूक होना बेहद जरूरी है.

Tags: Health, Lifestyle